अवसर के लिए हमेशा तैयार रहें – Always Be Ready for The Opportunity

0
51


Opportunity Ke liye Hamesha Tayyar rahen :

दोस्तों नवजोत सिंह सिधु पाजी ने एक बेहद ख़ास और जरुरी चीज बताई हैं , में आपको जरुर बताना चाहूँगा , यह बात भारत के महान स्टार क्रिकेटर हरभजन सिंह के बारे में है.

अवसर के लिए हमेशा तैयार रहें

एक बार नवजोत सिधु पाजी जालंधर में थे , तो वो जालंधर के क्रिकेट मैदान में गए प्रेक्टिस करने के लिए. उन्होंने वहां के लोगों को कहा की यार कोई बढ़िया सा बॉलर लेकर आओ आज प्रक्टिस करनी है , उस समय हरभजन सिंह बहुत ही छोटे थे , और भज्जी पाजी को बोला गया की सिधु पाजी को बॉल करवाओ |

तो सिधु पाजी ने देखा की एक 16-17 साल का लड़का उनको बॉल करवाने के लिए ले आयें हैं , और सिधु पाजी तब खूब चोके- छक्के मारते थे , तो सिधु पाजी ने कहा की यार कोई दमदार बोलर लेकर आओ. सब सिधु पाजी को बोले के आप एक बार खेलें तो सही, हरभजन सिंह ने जब बॉल करवानी शुरी की तो सिधु पाजी उनकी स्पीन खेल नहीं पाए , पहेली बॉल चुकी , और दूसरी गेंद चुकी और जाकर सीने पर लग गयी.

सिधु पाजी ने पहेचान लिया की यह एक बड़ा टेलेंट है , और हरभजन सिंह को पंजाब की टीम में जगह मिल गयी , और कुछ महीनों बाद वो भारत की टीम का हिस्सा बन गए , और इसके आगे मुझे तो और कुछ बताने की जरुरत भी नहीं है , जबसे लेकर अब तक हरभजन सिंह पाजी ने सबके दिलों पर राज किया है |

ये हरभजन सिंह पाजी का उदहारण हमें बहुत बड़ी सीक्ष|देता है , इस उदहारण से हमें बहुत कुछ सिख मिलती है और बहुत कुछ सिख सकते हैं की , जिंदगी में कुछ करने के मौके कभी आसकते हैं , लेकिन कितना जरुरी है की उस मौके के लिए खुद को तैयार रखना. हरभजन सिंह कई घंटे हर रोज प्रक्टिस के लिए मैदान में लगते थे , बहुत ही कठिन महेनत करते थे , उन्होंने अपने आपको कामयाबी पाने के लिए खुद को तैयार रखा था , और जैसे ही सिधु पाजी नाम का अवसर उनके आस -पास आई , अवसर और तय्यारी की मुलाकात होगयी , तो लम्बी कामयाबी की जिंदगी बन गयी.

ये बात हर फील्ड (Field) में लागू है , यहाँ पे उदहारण के लिए कोई Students (छात्र) या इंजिनियर को लेते हैं, अगर आप छात्र या इंजिनियर हैं तो आपके पास भी जॉब या अवसर (Opportunity) आसकते हैं , पर किया आपकी तय्यारी उस अवसर (Opportunity) के लिए तैयार है. क्या आपने अपने skills और ज्ञान पर इतनी महेनत की है की जब अवसर आये तो इसे हासिल करने के लिए तैयार हों. आपको तैयार रहेना जरुरी है ताकि अवसर के आते ही आप अपने तरक्की की शुरुआत कर सकें.

ऐसे ही एक और उदहारण लेते हैं की आपके पास एक बिज़नस प्लान है , और आप उस बिज़नस प्लान को चलाने के लिए कोई इन्वेस्टर ढूँढ रहे हों , तो आप अपने उस बिज़नस प्लान की प्रेजेंटेशन और जानकारी हमेशा तैयार रखो आपको नहीं पता अवसर कब और कैसे आजाये.  होसकता है ट्रेन में साथ वाली सीट में आजाये , होसकता है किसी फंक्शन (Function) में किसी बन्दे से मिलो और वो तैयार हो आपके बिज़नस पर invest करने के लिए.

तो चाहए आप छात्र हों या जॉब में हों , या फिर तो बिज़नस में , आप किसी भी फील्ड में क्यूँ न हों , हमेशा याद रखो की जब तय्यारी और अवसर मिल जाते हैं तो एक कामयाब जिंदगी बन जाती है.  तो हरभजन की तरह आप भी अपने लछ्य की तरफ बढ़ते रहिये, कामयाबी की तरफ चलते रहिये ताकि जब अवसर (Opportunity) आपके पास आये तो आप भी तुरंत छक्के लगादो.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here