एलसीडी क्या है? एलसीडी की पूरी जानकारी हिंदी में

0
2

एलसीडी क्या है? What is LCD in Hindi: आजकल दुनिया बहुत ही तेजी से आगे बढ़ती जा रही है और इस बढ़ती हुई दुनिया के विकास के पीछे अगर किसी चीज का सबसे बड़ा हाथ है तो वह टेक्नोलॉजी है जिसकी मदद से आज पूरी दुनिया काफी बदल चुकी है।

टेक्नोलॉजी के कई सारे भाग है। यह भावना को नहीं बल्कि करोड़ों की संख्या में है ऐसे में हम हर भाग का ध्यान तो नहीं रख सकते लेकिन जो मुख्य चीजें हैं जिनके बारे में हम थोड़ा बहुत जानते हैं तो उनके बारे में जानना तो बनता ही है।

आपने अक्सर LCD का नाम सुना होगा यह हो सकता है कि आपके घर पर LCD होगी भी, लेकिन यह केवल मात्र एक टीवी नहीं है बल्कि इसकी टेक्नोलॉजी काफी ज्यादा बड़ी है जिसके बारे में आज हम आपको बताएंगे।

आज हम आपको बताएंगे कि LCD क्या होता है और यह कैसे काम करती है साथ में इसके कुछ अमेजिंग जानकारियां भी आपको देंगे।

LCD क्या है ? What is LCD in Hindi

LCD तो भारत में लगभग TV को ही माना जाता है लेकिन यह केवल मात्र एक डिस्प्ले होती है। एलसीडी की फुल फॉर्म की बात करें तो LCD का पूरा नाम ‘लिक्विड क्रिस्टल डिस्प्ले’ है।

आपको बता दें कि यह एक फ्लैट पैनल डिस्प्ले होती है जिसे वैसे तो कई सारी चीजों के लिए इस्तेमाल किया जाता है लेकिन अधिकतर इसका इस्तेमाल TV और कंप्यूटर के मॉनिटर आदि के लिए किया जाता है।

इसके साथ इसके अन्य इस्तेमाल आपके मोबाइल डिवाइस की डिस्प्ले और लेपटॉप या टेबलेट आदि की डिस्प्ले के लिए भी किया जाता है। LCD डिस्प्ले का एक महत्वपूर्ण फायदा ही है होता है कि इसके लुक में आपको चारों ऐंगल से एक अच्छा एक्सपीरियंस मिलता है।

अगर इसके बारे में खोज करते हुए थोड़ा अंदर जाए और इसके इतिहास की बात करें तो इसको सबसे पहले 1888 में खोजा गया था। जब से इसकी खोज हुई थी तब से ही है काफी ज्यादा इस्तेमाल किया जाने लगा था और अब धीरे-धीरे इसका इस्तेमाल बढ़ता ही जा रहा है।

प्लाज्मा टेक्नोलॉजी की तरह ही LCD की डिस्प्ले CRT टेक्नोलॉजी से काफी पतली होती है। LCD की एक खास बात यह भी है कि यह LED वगैरह के मुकाबले काफी कम पावर का इस्तेमाल करती है। यही कारण के कई सारे लोग LCD को ज्यादा पसंद करते हैं।

LCD को बनाने की बात करें तो यह मुख्य रूप से कैसे हो मैट्रिक्स और एक्टिव मैट्रिक्स डिस्प्ले ग्रिड से बनी होती है। आपको बता दें कि एक्टिव मैट्रिक्स से बने डिस्प्ले को थिन फ़िल्म ट्रांजिस्टर भी कहा जाता है। इसके बारे में एक खास बात है कि इसमें करंट को बड़ी आसानी से स्विच ऑफ और स्विच ऑन किया जा सकता है।

LCD कैसे काम करती है ? How LCD Works in Hindi ?

LCD के वर्क करने के काफी सारे प्रिंसिपल्स होते हैं जिनको आज हम बनाने जा रहे हैं। सबसे पहले LCD की बैक लाइट एक सोर्स तैयार करती है जोकि जो कि स्क्रीन के पीछे तैयार होती है और बाद में लाइट प्रदान करती है। इससे होता यह है कि आधी लाइट ही लिक्विड क्रिस्टल लेयर के द्वारा शाइन करती है।

यह लिक्विड क्रिस्टल कुछ सॉलिड पार्ट्स से और कुछ लिक्विड पाठ से बने होते हैं जिसे आसानी से ट्विस्ट किया जा सकता है अर्थात मोड़ा जा सकता है। इंटरेस्ट ऑल में इलेक्ट्रिक वोल्टेज को सप्लाई किया जाता है। यह वोल्टेज लाइट को ब्लॉक कर देते हैं जब वह ऑफ रहता है और जब वह ऑन रहता तो वह एक्टिवेट होकर लाइट को सप्लाई करते हैं।

आपको बता दें कि सभी एलसीडी डिस्प्ले इसमें मैट्रिक्स होते हैं जो कि डिस्प्ले पर जिस चीज को आप देखना चाहते हैं उन्हें शो करते हैं। और इसी तरह से यह सब चीजें मिलकर एक LCD बनाती है, जो कि आपके टीवी में लगकर आपको एंटरटेन करती है।

तो दोस्तो, उम्मीद करता हु की आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा। अगर हाँ, तो इस पोस्ट को शेयर जरूर करे !!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here