Facebook Owner Mark Zuckerberg Biography in Hindi – Success Story

0
25
Facebook Owner Mark Zuckerberg Biography in Hindi

कैसे बनायीं मार्क जकरबर्ग ने फेसबुक ? आईये हम उनसे जुड़े कुछ महत्वपूर्ण बातें जानते हैं |

इस पोस्ट में आपको (Mark Zuckerberg Biography In Hindi) में बहुत ही डिटेल में बताया गया है , उम्मीद है आपको ये पोस्ट जरुर पसंद आएगा |

Mark Zuckerberg को आज किसी की पहेचान की जरुरत नहीं , दुनिया में बच्चे से लेकर बड़े से बड़े लोग इन्हें जानते हैं , Social Networking Site , फेसबुक (Facebook) के Co-Founder और (CEO) मार्क जकरबर्ग आज दुनिया के सबसे बड़े Youngest Billionaires में से एक हैं |

अपने College के समय ही Mark Zuckerberg ने होस्टल में ही रहेकर सोशल नेटवर्किंग साईट फेसबुक को बनायीं थी. जैसे ही Facebook पर 200 Millions से लेकर 250 Millions से जियादा यूजर (user) बढ़ने शुरू हुए तबसे Mark Zuckerberg Billionaire बन गए , और कुछ समय बाद ही एक फिल्म “The Social Network” के नाम से Facebook की Biography बन गयी , और आज Facebook पूरी दुनिया में सबसे जियादा USE की जाने वाली Website है.

Early Life Of Mark Zuckerberg : प्रारंभिक जीवन  मार्क जकरबर्ग :

Mark Zuckerberg का जन्म 14 May 1984 , को White Plains , New York में हुआ था. मार्क जकरबर्ग के पिता एक दंत चिकित्सक हैं जिनका नाम Edward Zuckerberg है , और माँ Karen Zuckerberg , मनोचिकित्सक हैं |

बचपन से ही मार्क को Programming में बहुत रूचि रही है , 12 साल की उम्र में ही उन्होंने  Atari BASIC का इस्तिमाल करके Messaging Program बनाया था जिसका मार्क Zuckerberg ने “Zucknet” नाम दिया , इस प्रोग्राम का इस्तिमाल इनके पिता अपने दाँतों के कार्यलय में उपयोग करते थे , ताकि दांत रोगी का स्वागत करने वाला (बहुत सी जगहों पर मरीज को आवाज देने के लिए खड़ा किया जाता है) कमरे में आकर चिल्लाये बिना एक नया रोगी की सुचना दें सके | इस Program का इस्तिमाल मार्क का पूरा परिवार घर के भीतर बातचीत करने के लिए भी इस्तिमाल करते थे , फिर कुछ समय बाद मार्क जकरबर्ग  ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर मनोरंजन के लिए एक कंप्यूटर (Computer) game भी बनाये थे |

मार्क की कंप्यूटर में रूचि को बनाये रखने के लिए उनके माता – पिता ने Personal Computer शीक्षक “David Newman” को हर हफ्ते में एक बार आकर और मार्क के साथ काम करने के लिए काम पर रखा | इतना ही नहीं  मार्क ने अपने उच्च माध्येमिक स्कूल में एक बुद्धिमान media MP3 Player भी बनाया जिस से एक MP3 Player की लिस्ट बन जाती थी इस लिस्ट में अपने आप user की Activity से MP3 लिस्ट बन जाती जो user सुनना चाहेता है अभी.

2003 में मार्क जकरबर्ग को गर्मी की शाम FACEMASH बनाने का विचार आया | मार्क ने हार्वर्ड के Database को Hack करने का निर्णय लिया , जहाँ College Students अपनी प्रोफाइल फोटो Upload भी करते थे | मार्क जकरबर्ग ने जल्द ही एक ऐसा Program बनाया जो Auto 2 female  की Image शो करता था और उन पर वोटिंग चलता था की कोन इन दोनों में से जियादा खुबसूरत है. Voting Website पर आने वाले लोगों के द्वारा की जाती थी. इस Website पर बहुत ही कम समय में बहुत ही जियादा Traffic आने लगी थी | साईट पर जियादा तर Traffic हार्वर्ड कॉलेज के स्टूडेंट से थी | अधिक Traffic संख्या बढ़ने पर Server भी Crash होगया था |

इस हादसे के बाद मार्क जकर बर्ग पर हैकिंग करने का इलज़ाम लगा था , क्यूँ की मार्क ने Database को Hack करके ही वो फोटो ली थी , और जो मार्क ने साईट बनायीं थी , जहाँ लड़कियों की वोटिंग हुयी थी ये भी गलत था | इसके लिए मार्क को कमेटी में बुलाया गया और बारी बारी सभी ने उनको बहुत खरी खोटी सुनाये , की ये गलत है ऐसा कियूं किया , लेकिन हेरानी की बात ये है की इस पर कोई धियान नहीं देरहा था की मार्क ने इतनी मुश्किल काम को इतने आसानी से और कम समय में कर धिकया था , जो मार्क की बुद्धिमानी को उपयोग में लायाजाये |

आब जानते है हम मार्क जकरबर्ग का सबसे बड़ा Project , यानी की “Facebook” जिसको अज पूरी दुनिया उपयोग करती है | मार्क ने अपनी बाकी Program की तरह फेसबुक को भी बहुत कम समय में बना लिया था | सबसे पहेले मार्क के पास सोशल नेटवर्क साईट बनाने का प्लान लेकर दिव्य नरेन्दर आया था | दिव्य नरेन्दर ट्विन्स टाइलर केमरों विन्क्लोवोश का पार्टनर था | जिसका नाम इन्होंने Harvard Connection होगा ये सोचा , एक मीटिंग के बाद मार्क ने इस काम को करने के लिए स्वीकार होगये |

फिर उसी हार्वर्ड कनेक्शन पर काम करते दोरान ही मार्क को खुदकी एक सोशल साईट बनाने का ख्याल आया , और अपने इस बहेतरीन आईडिया को को आगे बढ़ाने के लिए फरवरी 2004 में Mark ने thefacebook.com के नाम का एक Domain Register कर लिया , जो आगे चलके फेसबुक के नाम से Popular हुआ |Mark ने ये काम अपने मित्र Eduardo Saverin के साथ किया था , शुरआत में फेसबुक के Project पर Eduardo ने ही इन्वेस्ट किया था | जब फेसबुक पर 4000 traffic होगये तब मार्क और उसके पार्टनर Eduardo ने कुछ और नए Programmers को काम पर लगाया जो website पर अच्छे तरीके से काम करे |

और अब तक मार्क के 503.6 मिलियन Shares थे , और अब मार्क जकरबर्ग कंपनी के Vote का लग-भग 60% नियंत्रित करता है , 35% Eduardo Saverin , और 5% बाकी के नए पार्टनर | 2005 से फेसबुक को पुरे USA के सभी संस्थानों और विश्विद्यालय में उपयोग करने के योग्य बन गयी | मार्क एक ही बात को मानते हैं की उनकी Website Students के लिए है |

Facebook पर बहुत तेजी से traffic बढ़ने लगे और जैसे ही 50 मिलियन Traffic हुए फिर एक बड़ी कंपनी yahoo ने 900 मिलियन डॉलर फेसबुक के लिए ऑफर किया था , लेकिन मार्क जकरबर्ग ने इस बड़ी रकम को ठुकरा दिया , इसके साथ ही फेसबुक बहुत तेजी से आगे बढ़ने लगी और धीरे धीरे ये पूरी दुनिया के कोने कोने में उपयोग होने लगी , और आज फेसबुक दुनिया की सबसे बड़ी सोशल साईट है |और साथ ही आज मार्क जकरबर्ग पुरे विश्व में सबसे बड़े Youngest  Billionaire  में से एक हैं , और फिर मार्क ने 19 May 2012 को अपने लम्बे समय की प्रेमिका Priscilla Chan , जो California की रहेने वाली थीं उनसे शादी की , और आज वो दोनों आपस में बहुत खुश हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here